आरक्षण की मांग को लेकर जाटों के आंदोलन से बिगड़े हालात का जायजा लेने पहुंचे सीएम खट्टर। सीएम के इस दौरे के दौरान एक दिल हिला देने वाली खबर भी सामने आई।Jat_Quota_stirshocking

खबर है कि सोमवार को नेशनल हाईवे-1 मुर्थल से गुजर रही कारों को रोका गया। इन कारों में सवार महिलाओं के साथ गैंगरेप किया गया। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने खबर को पूरी तरह अफवाह बताया है। लेकिन गवाहों की मानें तो वहीं करीब 10 लड़कियों के साथ गैंगरेप हुआ और उसके बाद उन्हें खेतों में फेंक दिया गया। सबसे शर्मनाक बात यह है कि जिला प्रशासन ने पीड़ितों मामले में शिकायत दर्ज ना कराने की सलाह दे रहा है।   पढ़ें-बार डांसर पर पैसे लुटाते दिखे JNU में कंडोम पर बयान देने वाले BJP विधायक   करीब 30 गुंडों ने NCR की तरफ जा रही कई गाड़ियों को रोका। इनमें से कई लोग भागने में कामयाब रहे। लेकिन जो महिलाएं फंस गईं  उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ और गैंगरेप किया गया।   हालात ऐसे थे कि बिना कपड़ों के यह महिलाएं घंटों खेतों में पड़े-पड़े अपने परिवार वालों का इंतजार करती रहीं। मौके पर मौजूद एक शख्स ने बताया कि 3 महिलाएं अपने परिवार के साथ अम्रीक सुखदेव ढाबे पर बैठे सीनीयर पुलिस अधिकारी के पास गई थीं।   जब पीड़ित महिलाएं वहां पहुंची तो पुलिस अधिकारी नशे में थे। वहां जिला प्रशासन के कुछ लोग भी मौजूद थे। उन्होंने कोई कार्रवाई करने की जगह पीड़िताओं को घरवालों की खातिर चुप रहने की सलाह दी।   पढ़ें-रेप की कोशिश करने वाले को 5 जूते पंचायत ने धुलवाया दाग |