SHARE

बीते मंगलवार दुनियाभर में महिला दिवस बड़ी ही धूम धाम से मनाया गया. फेसबुक से ले कर अख़बारों की सुर्ख़ियों में महिला शक्ति की बखान किया गया था. ऐसे में कुछ महिलाओं ने लोगों को महिला शक्ति का परिचय देने के लिए दिल्ली मेट्रो का सहारा लिया. शराब के नशे में धुत ये महिलाएं एक पुरुष यात्री से भीड़ गईं और यात्री की माता-बहन के सम्मान में ऐसे-ऐसे शब्दों का प्रयोग किया कि यात्री ने भागने में ही अपनी भलाई समझी.

 

इस वीडियो को देखने के बाद बस एक सवाल मन में उठ रहा था कि क्या इसी महिला सशक्तिकरण के बारे में इस्मत आपा और Simone de Beauvoir जैसी महिलाओं ने कल्पना की थी. नशे में धुत हो कर या किसी से गाली गलौज करके मज़बूरी का फायदा उठाना महिला सशक्तिकरण नहीं हो सकता. बाकि महिला दिवस की एक बार फिर मुबारकबाद…